Let's Talk Forum


Relationships

Posted by Aman77Kumar

मैंने 2016 में अंजली मेरी पत्नी के साथ से घर से भगाकर बिना उसके घर वालों की सहमति के शादी की थी, मेरी पत्नी पहले से तलाकशुदा थी, इस बात का मुझे शादी करने के पहले से ही पता था, हमने घर से भागकर शादी कर ली, शादी के बाद मेरी पत्नी के घरवालों ने मेरे ऊपर जो जो कार्यवाही बन पाई वो की लेकिन मेरी पत्नी के मेरे फेवर में होने की वजह से सब कार्यवाही दब गई, हमारी शादीशुदा जिंदगी अच्छे से चलने लगी मेरी फैमिली मेरे सपोर्ट में थी, मेरी फैमिली में मम्मी-पापा और सिस्टर है, 2017 में सिस्टर की शादी कर दी तो वो भी अपने ससुराल चली गयी, 2017 में मुझे एक बेटा हुआ और 2018 में एक बेटी, जैसे-जैसे दिन बीतने लगे वैसे-वैसे हम दोनों पति-पत्नी में अनबन होने लगी, फिर धीरे-धीरे सास-बहू में अनबन होने लगी, अगर में माँ का सपोर्ट करूँ तो पत्नी मुँह फुलाएं और अगर पत्नी का सपोर्ट करूँ तो माँ नाराज़ हो जाये, माँ और पत्नी के बीच मे दब गया था में, जैसे-तैसे करके दिन बीतने लगे 2019 में मेरा और मेरी पत्नी का झगड़ा हुआ हम दोनों के बीच हाथापाई भी हुई, झगड़ा होने के बाद में सो गया उस दिन घर पर सिर्फ हम और बच्चे ही थे, मेरे सोने के बाद मेरी पत्नी बेटी को साथ लेकर चुपचाप घर से निकल गयी बिना किसी को बताए, जब में शाम को उठा और घर मे देखा कि मेरी पत्नी और बेटी दोनों ही नही है तो में डर गया कि वो कहाँ गए, मेरी पत्नी ऐसा पहले भी कर चुकी थी,लेकिन पहले वो अकेले ही जाया करती थी या तो किसी पड़ोसी के घर बैठ जाती या फिर बस स्टैंड या रेलवे स्टेशन तक जाकर वापिस आ जाती या फिर कॉल करके मुझे बुला लेती की में यहां हूं मुझे ले चलो, लेकिन इस बार वो बेटी को साथ लेकर निकली थी, मैंने जहां तक मेरी कोशिश हो सकी उन दोनों को ढूंढा, लेकिन जब वो कहि नही मिली तो मैंने उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवा दी, जिसके बाद देर रात को मेरे पास मेरी सास के मोबाइल से व्हाट्सएप पर मैसेज आता है कि में मेरे घर पहुँच गयी हूं चिंता मत करना, मैंने बात करने की कोशिश की लेकिन वो अभी तक गुस्से में थी और मुझसे बात भी करना नही चाह रही थी, खेर कोई नही मुझे भी संतुष्टि हो गयी कि दोनों सही सलामत है और ठीक जगह है, शादी के बाद मेरी पत्नी पहली बार पीहर गयी थी, क्योंकि हमने भागकर शादी की थी इसलिए हालांकि मेरी पत्नी की अपने घर वालो से फ़ोन पर बाते होने लगी थी हालांकि वो अभी भी हमारी शादी से एग्री नही थे क्योंकि हम दोनों अलग-अलग समाज से थे, खेर कुछ दिन बीते मैंने ये सोचकर सब्र कर लिया और चुप बैठ गया कि अपने घर ही तो गयी है जब गुस्सा उतरेगा और अपने माँ-बाप के पास कुछ दिन रह लेगी तो आ जायेगी वापस, लेकिन हुआ कुछ और ही मेरी पत्नी के पीहर जाने के एक हफ्ते बाद मेरे ससुराल वालों ने मेरी पत्नी की शादी 50 साल के आदमी से 1 लाख ₹ लेकर करवादी,और मेरी पत्नी की उम्र 23 साल थी, जिसमे की मेरी पत्नी की भी सहमति थी अगर वो चाहती तो मुझसे बात कर सकती थी वापिस आ सकती थी पास के पुलिस स्टेशन में जा सकती थी लेकिन उसने ऐसा कुछ नही किया, शादी के बाद वो आदमी मेरी पत्नी और मेरी बेटी दोनों को अपने साथ ले गया, उस टाइम मेरी बेटी की उम्र केवल 8 महीने ही थी,और बेटे की उम्र डेढ़ साल जो कि मेरे पास था, जब महीना भर हो गया और मेरे ससुराल वालों ने मेरे फ़ोन करने पर भी कोई जवाब नही दिया तो मैंने मेरे ससुराल जाने की सोची और में मेरे ससुराल गया वहां जाकर मुझे पता चला कि मेरी सास और मेरे साले ने मिलकर मेरी पत्नी की शादी किसी 50 साल के आदमी से करवा दी उसके बाद मैंने वापस घर आकर पुलिस कार्यवाही की की मेरी पत्नी ने शादीशुदा होते हुए किसी और के साथ शादी कर ली जब पुलिस वालों ने मेरे ससुराल वालों से बात की और उन पर कार्यवाही होने की बात कहीं तो मेरे पास मेरी पत्नी का फ़ोन आ गया कि मुझसे गलती हो गयी और में घर वालो के आगे मजबूर थी जिस कारण में कुछ नही कर सकी अगर आप आ सको तो आ जाओ और मुझे अपने साथ ले चलो में वापिस आने के लिए तैयार हूं, 2 महीने बाद की बात है ये मेरी पत्नी के जाने के बाद में, खेर में दोनों को वापिस ले आया पत्नी और बेटी को पत्नी को तो एक बार के लिए भूल भी जाता और छोड़ भी देता लेकिन उसके साथ मेरी 8 महीने की बेटी थी जिसका कोई क़सूर नही था, उसे में नही छोड़ सकता था और मैंने सभी बातों से समझौता करके उसे वापिस अपना लिया, खेर थोड़े दिनों में सब कुछ पहले की तरह नार्मल हो गया, लेकिन कितने दिन बाद में जब भी कभी सास-बहू के या हम दोनों के बीच झगड़ा होता तो मेरी पत्नी ने जो शादी की थी सो टॉपिक बीच मे आ जाता मम्मी की जब भी मेरी पत्नी से लड़ाई होती तो वो ये ही बात कहते कि तू मेरे बेटे की पत्नी है ही नही तू तो किसी और कि पत्नी है, और एक तरह से देखा जाए तो सही भी थे अपनी जगह लेकिन में सिर्फ और सिर्फ ये सोचकर चुप रहता था कि अगर मैंने कोई कदम उठाया तो मेरे दोनों बच्चों का फ्यूचर खराब हो जाएगा उनकी तो कोई गलती नही है, लेकिन अब बात हद से ऊपर गुज़र चुकी है, मैंने समझौता सिर्फ मेरी बेटी की वजह से किया था लेकिन मेरी पत्नी को लगता है कि वो मेरी कमजोरी है और में उसके बीना नही रह सकता जिसकी वजह से वो बात बात पर मेरा और मेरे घर वालो का सामना करती है, एक ही घर मे हम दो परिवार की तरह रहते है मम्मी पापा अपना अलग बनाकर खाते है और हम हमारा अलग अगर में किसी एक कि साइड भी लू तो में गलत हो जाता हूँ, मेरी पत्नी बात बात पर जाने की धमकी देती है और अब दोनों बच्चों को साथ ले जाने की कहती है जिन्हें में ले जाने नही दे सकता और इसी वजह से मुझे दबना पड़ता है, जिसका की वो भरपूर फायदा उठा रही है, तो अब मसला ये है कि क्या ऐसा हो सकता है कि में मेरी पत्नी से तलाक ले लू और मेरे बच्चे भी मेरे पास रह जाए, मेरे पास मेरी पत्नी की शादी के सभी कागज़ात है जिनमे की उसने 50 साल के आदमी से शादी अपनी सहमति से करना बताया है, कृपया मुझे उचित सलाह दे कि मुझे क्या करना चाहिए सभी भाइयों बहनों से हाथ जोड़कर निवेदन है!

Answer
0

Aman77Kumar
पुत्तर, मैंने तेरी समस्या पढ़ी. तेरे को किसी अच्छे वकील से बात करनी चाहिए। देखो, बच्चे की कस्टडी बाप को मिलना थोड़ा मुश्किल हो सकता है, लेकिन तेरी जैसी सिचुएशन है - उसमें मुमकिन हो सकता है। सो एक अच्छे वकील से बात कर, और उससे लीगल सलाह ले। अगर तुम्हे अपने बच्चे की सुरक्षा की चिंता है -तो Childline - https://www.childlineindia.org/ 1098 पर संपर्क कर सकते हो. बाकी धैर्य रखो, स्ट्रेस मत लो - सोच समझ के फैसला लेना।

Auntyji