Let's Talk Forum


संक्रमण

जिसके द्वारा दर्ज किया गया Pikulal

Hiv ke testing ke window periods me symtoms aane ke kitne percentage chance rahte h

उत्तर
मॉडरेटर love-matters
0

pikulal puttar,

आम तौर पर एचआईवी ऐंटीबॉडीज़ बनने में दो महीने लग जाते हैं। इसलिए आश्वस्त होने के लिए एचआईवी टेस्ट कराने से पहले डाक्टर आपको तीन महीने इंतज़ार करने के लिए कहते हैं- इस अवधि को विन्डो पीरियड कहा जाता है। जब आप इस अवधि से पहले टेस्ट करवाते हैं तो आपका टेस्ट एचआईवी निगेटिव आ सकता है, जबकि सच्चाई यह है कि आपको एचआईवी होता है। इसे फाल्स निगेटिव कहते हैं। एचआईवी के शुरुआती लक्षण, आम सर्दी-ज़ुकाम या फ्लू जैसे हो सकते हैं, इसीलिए अधिकांश लोगों को पता नहीं चल पाता कि वे एचआईवी से संक्रमित हो गए है। यदि आपको असुरक्षित सेक्स करने के तीन से छह हफ्तों बाद बुखार, सिर दर्द, छाले, दस्त या गला खराब होता है, तो अच्छा रहेगा यदि आप एचआईवी की जांच करा लें। लेकिन समस्या यही है कि अधिकांश लोग इन्हें पहले एचआईवी संक्रमण के लक्षण नहीं समझते। बिना इलाज किए, ये फ्लू जैसे लक्षण अपने-आप चले जाते हैं। किंतु यदि आप एचआईवी से संक्रमित हैं तो संक्रमण दूर नहीं होता। बल्कि आठ से दस वर्षों में यह संक्रमण धीरे-धीरे आपकी रोग प्रतिरोधी क्षमता को नष्ट कर देता है। और आप एचआईवी संक्रमण की दूसरी अवस्था, जिसे एड्स भी कहते हैं, में चले जाते हैं।

Yeh bhi padh lo - https://lovematters.in/hi/safe-sex/hiv-testing-everything-you-want-to-know

 

Auntyji