Let's Talk Forum


गर्भावस्था

जिसके द्वारा दर्ज किया गया HamanshuGupta

अगर हम किसी लड़की के साथ सेक्स करते हैं और उसके योनि में वीर्य डाल देते हैं तो बह कितने दिनों में बो प्रेगनेट होने की संभावना रहती है और उसका कैसे पता चलता है की बो पेट से है

उत्तर
मॉडरेटर love-matters
0

HamanshuGupta puttar,
हर महीने फ़ीमेल रीप्रोडक्टिव सिस्टम द्वारा ओवरी से एक ओवम या एग बाहर आता (फ़ीमेल रीप्रोडक्टिव से) ओवयुलेशन सामान्यतः एक दिन के लिए होता है और एक औरत के मासिक चक्र के बीच में होता है, यानी कि उसके अगले मासिक से 12 या 16 दिन (लगभग दो हफ़्ते पहले ) पहले।

सीधे शब्दों में कहे तो यह एक स्त्री से सबसे उर्वर दिन होते हैं। इस दौरान एक औरत के प्रेग्नेंट होने के आसार सबसे अधिक होता है। गर कोई जोड़ा प्रेग्नेंसी की योजना बना रहा है तो उन्हें इन दिनों में असुरक्षित सेक्स करना चाहिए। इस दौरान प्रेग्नेंट होने के आसार सबसे अधिक हैं। प्रेग्नेंसी तब होती जब एक स्त्री और पुरुष आपस में सेक्स करते हैं (या प्यार करते हैं)। पुरुष का पेनिस स्त्री के वेजाइना में जाता है, अगर वह गर्भाधान चाहते हैं तो पुरुष को स्खलन के दौरान अपना स्पर्म स्त्री के वेजाइना में छोड़ना होता है जिसके अंदर स्पर्म सेल होते हैं।

स्पर्म सेल सरविक्स से यूटरस तक तैर कर जाते हैं जहाँ एक ओवम या परिपक्व एग ओवरी द्वारा छोड़ा गया होता है। तभी प्रेग्नेंसी के आसार बढ़ जाते हैं जब स्त्री ओवयुलेट कर रही होती हैं। ओवयुलेशन आपके अगले मासिक के 12 या 16 दिन पहले होता है (लगभग दो हफ़्ते)। ओवयुलेशन स्ट्रिपस बाजार में मिलेंगे।

हर औरत इस पीरियड के दौरान कोई लक्षण पाए यह ज़रूरी नहीं। हालाँकि कुछ शारीरिक बदलाव होते हैं जैसे सर्विकल म्यूकस में बदलाव (वेजाइनल डिस्चार्ज के रूप में जो पैंटी पर लगा मिलता है ), शरीर के तापमान का बदलना आदि।

जब स्त्री ओवयुलेट कर रही हो और उसी दौरान स्पर्म सेल ओवम या एग सेल से मिले तो प्रेग्नेंसी के आसार बढ़ जाते हैं। स्पर्म और ओवम के मिलन को ही फर्टिलाईजेशन कहते हैं। ओवम के निषेचित होने पर यह फ़ीमेल यूटरेस की दीवार पर स्थित हो जाता है। यह प्रेग्नेंसी का पहला चरण है। माहवारी का रुकना प्रेग्नेंसी का पहला लक्षण है। जैसे ही ओवल स्पर्म से निषेचित हो जाता, शरीर माहवारी रोक देता है। अगर ओवल निषेचित नहीं होता तो शरीर द्वारा बनाए गए ब्लड सेल अगली माहवारी में निकाल जाते हैं और ओवम फिर से शरीर द्वारा सुरक्षित कर लिया जाता है। फिर प्रेग्नेंसी के लिए अगले ओवयुलेशन चक्र का इंतज़ार करना पड़ता है। और अगर आप प्रेग्नेंट नहीं होना चाहते तो ओवयुलेशन के दौरान बहुत सतर्क रहें। https://lovematters.in/hi/how-does-pregnancy-happen

Auntyji